unlimited years
  Central Academy School , Umaria : Low Quality Teaching  
HOME Umaria News Reporter : Sadanand Joshi  
  28 Sept 2013  
  umaria central academy  
   
   
   
   
   
   
   
   
   
   
 

उंची दुकान फीका पकवान
स्कूलों में नौनिहाल के भविष्य के साथ खिलवाड
फोटो: बच्ची अपने प्रष्नपत्र को दिखाते हुऐ

उमरिया: -बर्तमान में जहा बेहतर परीक्षा परिणमों के लिए छात्र-छात्रऐं कडी मेहनत कर रहे है।वहीं विधालयीन प्रबंधकों की लापरवाही के चलते उनकी मेहनत पर पानी फेरा जा रहा है।हाल ही में सभी स्कूलों में तिमाही परीक्षा का आयोजन किया गया जिसमें शहर की नामी सेंट्रल एकडमी स्कूल के कक्षा 4थी का हिन्दी विषय का प्रष्नपत्र इतना अधिक बोझिल था कि छात्र-छात्राओं कों समझ मेें ही नहीं आया।प्रष्नपत्रों में अंकित शब्द इतने बारीक थे जिसे खाली आंखों से पढा ही नहीं जा सकता।इतना ही नहीं पूछे गऐ प्रष्नों में जहां सैंकडों त्रुटियां हैं,वहीं प्रष्नपत्र देखकर स्कूल में हिन्दी विषय का षिक्षकीय कार्य करने वाले षिक्षकों की कार्यषैली पर भी प्रष्नचिन्ह लग रहा है।
षिक्षा को व्यापार बनाने के बाद भी प्रायवेट स्कूलें उंची दुकान फीका पकवान से ज्यादा साबित नहीं हो रहे हैं। मनमानी फीस वसूलने के बाद भी अभिभावकों को अपने बच्चों की छोटी-छोटी आवष्यकताओं व मांगों को पूरी करने के लिए जिला षिक्षा अधिकारी से लेकर कलेक्टर तक षिकायत करनी पड रही है। ताजा मामला जिला मुख्यालय में सिथत संैंट्रल एकडमी का है जहां कक्षा 4थीं का है। इस समय स्कूल में तिमाही परीक्षा चल रही है, वहां के बच्चों को इस प्रकार प्रष्नपत्र दिया गया है।हिन्दी विषय का प्रष्नपत्र के अक्षर इतने छोटे और बारीक है,जिन्हें बच्चों को पढने में बहुत परेषानी हुर्इ। अभिभावकों का कहना है कि यह केवल पहली परेषानी नहीं है, इसके अलावा बच्चों को नाना प्रकार से परेषान होना पडता है। षिक्षकगण बच्चों को कोर्स में पढाये बिना ही अपने मन से प्रष्नपत्र बनाते है ,जिससे बच्चे घरों में आकर रोने लगते हैं।अभिभावकों का यह भी कहना है कि स्कूल में एडमीषन के समय दिये जाने वाली फीस के बाद हर साल एडमीषन लेते हैं। माह वार स्कूल फीस भी पूरे जिले में सबसे ज्यादा है, इसके बाद भी एक ही कक्षा में 76बच्चों को पढने के लिए विवष किया जा रहा है।हिन्दी विषय के प्रष्नपत्र में ऐसे सवाल पूछे गए हैं कि कक्षा 4थीं के बच्चे अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। वहीं षिक्षकों की खिल्ली भी उडायी जा रही है।हिन्दी प्रष्न पत्र देखकर अभिभावक भी प्राचार्य से षिकायत की।अभिभावक प्रष्नपत्र की सत्यप्रतिलिपि कलेक्टर को दिखायी है।

 
     
     
     
     
  Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News Umaria News  
  Central Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , UmariaCentral Academy School , Umaria  
     
 
 
     
HTML Comment Box is loading comments...
Free counters!