Forest Animal Safety Week , Just Formality Done By Director Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park Umaria (MP) !  
HOME Umaria Reporter : Sadanand Joshi  
  06 Oct 2013  
 

 
   
   
   
   
   
   
   
   
   
   
 
वन्य प्राणी सुरक्षा सप्ताह का समापन
उमरिया: वर्तमान समय में बांधवगढ नेशनल पार्क में वन्य प्राणी सुरक्षा सप्ताह को औपचारिकता निभाते हुए पूरा किया जा रहा है। इसके पूर्व हाथी महोत्सव जिसे प्रबंधन हाथियों के लिए रिजुवेनल कैंप का नाम दे रहे थे, उसे तो कागजों में निपटाया जा चुके है।अभी हाल ही में विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर विश्वप्रसिधा बांधवगढ नेषनल पार्क होने के बाद भी जिले मे औपचारिकता न करके रही सही कसर भी निकाली जा चुकी है।जबकि बाघों के संरक्षण के नाम पर करोडों रूपये खर्च करने के बाद भी विगत छ माह में 6बाघों की मौत पार्क प्रबंधन के प्रबंधन पर सवालिया निशान लगा रहें है।इनमें से तीन बाघों की मौत करंट लगने से हुई थी।ऐसे मेंं अभी तक विधुत मंडल और वन विभाग की सहमति नहीं बन पायी है कि किस प्रकार विधुत तारों की निकासी की जाये जिससे पूर्व में बाघों की मौत जो कंरट लगने से हुर्इ है,उसे रोका जा सके। इसके अलावा पूर्व में ही बाघों की मौत के कारणों की समीक्षा करने के लिए बनाये गई समितियों की रिपोर्ट का अभी तक खुलासा नहीं किया गया है।इन सबके स्थान पर वन्य प्राणी सप्ताह को अच्छे से संचालित किया गया,इसे बताने के लिए नाम मात्र चंदा वगैरह दिया जा रहा है, जिससे कोई किसी बात का खुलासा करने के लिए बाध्य ना करें और ना ही इन्हें कोई जिम्मेदार ठहरा सके।
प्रदेश के सभी नेषनल पार्कों में साल 2012 के सितम्बर तक ही बाघ क्लब का बनाने के निर्देष जारी किए गए थे। इसकी जिम्मेदारी भी प्रबंधन एनजीओं और स्कूल प्रषासन पर ही थोप रहा है, जो इन्हें संचालित करने में रूचि नहीं दिखा रहे हैं। जबकि बाघ क्लब के स्थापना से वन्य प्राणी सुरक्षा निभाने की साप्तहिक जिम्मेदारी के स्थान पर हर समय ही वन्य प्राणियों की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी का अहसास स्थानीय निवासियों को होता रहेगा।ऐसे में भी नेशनल पार्क में ही बाघ क्लब और पर्यटन टूरिज्म को विकसित करने के लिए शासन स्तर पर उपर से ही निर्देष है,लेकिन पार्क प्रबंधन इन सबके प्रति उदासीनता अपनाने में कोई कमी नहीं रखता है।
फोटो: पार्क खुलने में मात्र कुछ ही दिन शेष है,फिर ये नजारे आम हो जायेगें।बाघों की सुरक्षा कौन करेगा?
 
     
     
     
     
     
  Director Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park Umaria Director Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariavDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park UmariaDirector Sudhir Kumar Bandhavgarh National Park Umaria  
 
Share  
 
 
 
     
HTML Comment Box is loading comments...
Free counters!